• Hingna Road MIDC, Nagpur

  • 919422129618

Plaster care

प्लास्टर लगाने के बाद

  • प्लास्टर को मोडीए नहीं / गिला या खराब न करें ।

  • प्लास्टर लगाए हुए हाथों / पैरों की उंगलियों पर सुजन आना या रंग बदला तो तुरंत दवाखाने में डॉक्टर को दिखाए ।

  • प्लास्टर लगाए हुए हाथों / पैरों की उंगलियों की नियमित घुमाते रहना आवश्यक है ।

  • प्लास्टर यदि ढिला हो गया हो अथवा उसमें चिरा लग जाए तो डॉक्टर से अवश्य मिलिए ।

  • प्लास्टर में हाथ या पैर दुबला होगा , घबराईये नही ।

  • निर्देशीत करने से फिर भर जायेगा .

  • कृपया आते समय क्रेप बँडेज यदि घर में हो तो साथ में लाए ।

  • प्लास्टर निकालने के बाद

  • प्लास्टर निकालने के पश्चात आपके स्रायु व कंधो का व्यायाम करना आवश्यक है , उसके लिए आप डॉक्टर से सलाह मश्वरा ले सकते है ।

  • फॅक्चर के बाद , तुरंत एवम् जुडते रहने की प्रक्रिया में सुजन स्वाभाविक है ।

  • हाथ पैर निचे रखने पर सुजन आ जायेंगी और उपर उठाकर रखने पर कम हो जायेगी । ऐसा Lymphatics Block कई हप्ते / महीने होंगा । ऐसा होने की वजह से होता है , जिसे खुलने में लंबा समय लगता है ।

  • प्लास्टर निकालने पर दर्द होगा । तुरंत जोड पुरा नही हिलेगा । हो सकता है आपको चक्कर आ जाये , घबराईये नहीं , धिरे धिरे जोड को हिलाईये , दो बार मलहम लगाईये , दो बार गरम पानी से सेकीये और फिर Crape Bandage बांध लिजिए । ( अगर बताया हो तो )

  • Crape Bandage नहाते समय Toilet जाते समय , एवम् सेक करते समय खुद खोल सकते है । Physiotherapy जोड को स्वरूप करने में मदद करती है , एवम् मसल की ताकत बढ़ाती है ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

emergency call